ध्यान क्या है,कैसे करे – Meditation in hindi – No 1 Best टिप्स

Meditation in hindi :

एक साधारण व्यक्ति जिसे ध्यान या योग का अधिक ज्ञान नहीं है, वह ध्यान को प्रार्थना मान सकता है, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। ध्यान प्रार्थना से अलग है, यह आपको आंतरिक शांति देता है। ध्यान का मुख्य उद्देश्य मनुष्य में जागरूकता बनाए रखना है। इसलिए हर साल 15 मई को विश्व ध्यान दिवस के रूप में मनाया जाता है। आप अपनी दिनचर्या में जो कुछ भी करते हैं, उसे पूरी जागरूकता के साथ करते हुए अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करें। यही साधना का मुख्य उद्देश्य है। आइए हम आपको इस लेख में ध्यान क्या है, इसके फायदे, नुकसान और इसे कैसे करें के बारे में जानकारी देते हैं।

ध्यान क्या है – What is Meditation – Meditation in hindi

मेडिटेशन एक ऐसा तरीका है जिससे आप अपने तनावपूर्ण जीवन से बाहर निकल सकते हैं और अपनी जीवनशैली में सुधार कर सकते हैं। क्योंकि आज के समय में ज्यादातर लोग मानसिक बीमारी से गुजरते हैं जिससे उनकी दिनचर्या अस्त-व्यस्त हो जाती है. इसके अधिकतर उपयोग या यूं कहें कि योग से जुड़े ज्यादातर लोग इससे वाकिफ हैं क्योंकि वे इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करना नहीं भूलते हैं।

तो ध्यान में अपनी श्वास को सुनना या पक्षियों की आवाज को स्पष्ट रूप से सुनना ध्यान है, लेकिन जब आप इस मुद्रा में रहकर कुछ और महसूस नहीं करते हैं, तो आप पूर्ण ध्यान की स्थिति में होते हैं। अगर आप भी इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहते हैं तो इन टिप्स को जरूर पढ़ें।

ध्यान क्यूँ कीया जाता है – Motive of Meditation – Meditation in hindi

ध्यान का उद्देश्य वास्तव में कोई लाभ प्राप्त करना नहीं होना चाहिए, लेकिन फिर भी इसकी सहायता से व्यक्ति अपना ध्यान अपने उद्देश्य पर केंद्रित करके अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है। वैसे ध्यान का मुख्य उद्देश्य करुणा, प्रेम, धैर्य, उदारता, क्षमा आदि के गुणों को बनाए रखना है। ध्यान का प्रयोग अनादि काल से ध्यान के एक रूप के रूप में किया जाता रहा है। ध्यान कोई तकनीक नहीं है, बल्कि यह जीवन को सही तरीके से जीने का एक तरीका है।

मेडिटेशन करने का सही तरीका है कि आप अपनी सोचने की शक्ति को सीमित समय के लिए रोक दें। ध्यान के समय व्यक्ति सभी प्रकार के विचारों से मुक्त होता है और उसका ध्यान केवल एक और पर केंद्रित होता है।

ध्यान के प्रकार – Variant of Meditation – Meditation in hindi

ध्यान कई प्रकार के होते हैं। जिसे अपने डेली रूटीन में शामिल करने से आपको काफी फायदा होगा।

  • माइंडफुलनेस मेडिटेशन(ध्यान )

माइंडफुलनेस मेडिटेशन एक व्यक्ति को वर्तमान में हर जगह जागरूक और उपस्थित होने में मदद करता है। इसके अभ्यास से व्यक्ति स्वयं को जागरूक और सतर्क बना सकता है। इसके अभ्यास की बात करें तो इसे करते समय अपने आसपास हो रही गतिविधियों पर ध्यान दें, जिससे आप अपने मन और दिमाग को एक जगह शांत रख सकें। इसका अभ्यास करने के लिए कोई स्थान या समय सीमा नहीं है, आप इसे कहीं भी कर सकते हैं।

  • कुंडलिनी मेडिटेशन (ध्यान )

कुंडलिनी योग ध्यान का आधार है, जिसके द्वारा आप शारीरिक रूप से सक्रिय हो सकते हैं। इसमें मंत्रों का जाप, गहरी सांस लेना और विभिन्न गतियां शामिल हैं। इसके लिए लोग आमतौर पर क्लास लेते हैं ताकि वे इसके मंत्रों और उन हरकतों को जान सकें ताकि उन्हें इस अभ्यास में किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। हालांकि इसका मंत्र और इसकी विधि जानने के बाद आप इसे घर पर भी आसानी से कर सकते हैं।

  • ज़ेन मेडिटेशन (ध्यान )

ज़ेन ध्यान को बौद्ध परंपरा का एक हिस्सा माना जाता है। यदि आप गुरुकुल या किसी पेशेवर प्रशिक्षु से इसका अभ्यास करते हैं तो आप इसे अच्छे से सीख पाएंगे। इसमें कुछ आसान तरीके हैं और कुछ खास हैं, जो आपके दिमाग को शांत करते हैं और आपकी सोचने की क्षमता को बढ़ाते हैं। ऐसा करने से आपका तन और मन दोनों ही विश्राम की स्थिति में चले जाते हैं।

  • मंत्र मेडिटेशन (ध्यान ) :

मंत्र जो की संस्कृत शब्द लिखा गया है। यह दो शब्दों मन से बना है जिसका अर्थ है “मस्तिष्क” या फिर “सोच” और त्रि का अर्थ है “रक्षा करना” या “बंधन से मुक्त करना”। इसके अभ्यास से आप अपने आसपास उत्पन्न होने वाली नकारात्मक ऊर्जा को दूर रख सकते हैं। जो आपके दिमाग को शांत और शांत करेगा।

ध्यान कैसे शुरू करें – how to start meditating : Meditation in hindi

अगर आप मेडिटेशन को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने जीवन से सारे तनाव को खत्म करना होगा। क्योंकि अगर तनाव रहेगा तो आप किसी पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगे। शुरूआती दौर में लोगों को मेडिटेशन करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, लेकिन घबराएं नहीं क्योंकि आपको पता चल जाएगा कि आप इसे आसानी से कर पाएंगे। आपको बस इतना करना है कि इसे करने का सही समय और तरीका पता है ताकि आप इसे अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकें।

ध्यान कैसे करें (टिप्स ) : Meditation in hindi

ध्यान अगर सही तरीके से किया जाए तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। यह आपको शारीरिक और मानसिक शांति और फिटनेस देता है। लेकिन इसके लिए सबसे जरूरी है कि आप इसे सही तरीके से करें। अगर आप अपना ध्यान ठीक से कर सकते हैं तो हम आपको कुछ तरीके बता रहे हैं। आशा है कि यह आपके लिए मददगार साबित होगा।

सबसे पहले ध्यान के लिए अछे और सांत स्थान को चुने : Meditation in hindi

इसके लिए सबसे पहले आप अपनी मनचाही जगह पर मेडिटेशन कर सकते हैं, जहां आपको आंतरिक शांति मिल सकती है। लेकिन फिर भी जिन दीवारों पर आप ध्यान करते हैं, वे न तो बहुत अंधेरी होनी चाहिए और न ही बहुत हल्की। जगह न तो ज्यादा गर्म हो और न ही ज्यादा ठंडी (यहां ठंड से हमारा मतलब प्राकृतिक ठंड नहीं बल्कि एसी से ठंडा होना है)। इन सबके अलावा इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि जिस स्थान पर आप ध्यान करते हैं उस स्थान पर अधिक शोर या कोई अन्य विघ्न न हो।

विशेष : यदि आप किसी एक स्थान पर आप को ध्यान करने में सहज नहीं हो रहा है तो उस स्थान को आप अपनी ईछा के अनुसार बदल सकते हैं ।

ध्यान करने के लिए अपनी मुद्रा का चयन करें- Meditation in hindi

आप अपनी हिसाब और सुबिधा के अनुसार ध्यान के लिए कोई भी सिचूऐशन चुन सकते हैं। ध्यान किसी भी सिचूऐशन में किया जा सकता है जैसे बैठना, लेटना, खड़े होना। लेकिन इन सभी चरणों के अपने फायदे और नुकसान हैं। आप अपनी इच्छानुसार किसी भी स्थिति में ध्यान कर सकते हैं, लेकिन आपके लिए बेहतर है कि आप हर समय एक ही अवस्था में ध्यान न करें और अपनी स्थिति बदलते रहें। Meditation in hindi

  • खड़े होने की मुद्रा:-

बहुत से लोग मानते हैं कि खड़े होकर ध्यान नहीं किया जा सकता है। लेकिन यह वैसा नहीं है। कुछ लोगों के लिए जो पालना के साथ ठीक से नहीं बैठ सकते हैं या जो लंबे समय तक एक ही स्थिति में लेट नहीं सकते हैं, यह स्थिति समस्या का समाधान करती है। यह अवस्था भी इनके लिए सर्वोत्तम होती है।

इस पोजीशन में मेडिटेशन करने के लिए आपको सीधे खड़े होना होता है और आप अपने हाथों को अपनी कलाइयों के सहारे जोड़ सकते हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार अपने चेहरे और दृष्टि को किसी भी स्थान पर केंद्रित कर सकते हैं। और हाँ आप अपनी सुविधा के अनुसार अपनी बाहों की स्थिति भी बदल सकते हैं। और आपके लिए अपने पेट और पीठ के निचले हिस्से को आराम देना महत्वपूर्ण है। Meditation in hindi

  • झुकी हुई मुद्रा:-

इस पोजीशन में मेडिटेशन करने के लिए आपको एक तरफ लेटना होता है और अगर आप दायीं तरफ लेटे हैं तो आपका दाहिना हाथ आपके सिर के नीचे और बायां हाथ आपके शरीर के ऊपर एक सीधी स्थिति में है। आप चाहें तो दाहिने हाथ की जगह सिर के नीचे तकिया भी रख सकते हैं। अगर आपको इस पोजीशन में कोई दिक्कत आती है तो आप अपने हिसाब से कोई और पोजीशन चुन सकते हैं।

  • आसन मुद्रा :-

मेडिटेशन में बैठकर मेडिटेशन करने की कई स्थितियां होती हैं। उदाहरण के लिए, यदि कोई व्यक्ति पल्टी पहनने में सहज महसूस करता है, कोई पद्मासन करने में सक्षम है, तो वह वज्रासन में पैर जोड़कर बैठता है। आप अपनी इच्छानुसार अपने लिए आरामदायक पोजीशन चुन सकते हैं। आप अपने अनुसार अपने हाथ और उंगलियों की स्थिति भी चुन सकते हैं। बैठते समय ध्यान करते समय आपकी छाती टाइट होनी चाहिए और आपकी गर्दन संतुलित होनी चाहिए। Meditation in hindi

  • ध्यान लगाना :-

अगर आप ध्यान की अवस्था में हैं तो अपने मन में आने वाले सभी विचारों को रोक दें। आपके मन में जो कुछ चल रहा है, जैसे आपके घर की उलझन, आपके परिवार की परेशानी या आपके ऑफिस की परेशानी आदि, उसे अपने दिमाग से निकाल दें और अपने शरीर के हर हिस्से को शांत करें।

महसूस करें कि आप इस दुनिया से परे हैं, आपको कोई समस्या नहीं है, आपके पास करने के लिए कोई काम नहीं है। ऐसा करने में आपको थोड़ा समय लग सकता है, लेकिन अपने विचारों को अपने नियंत्रण में रखने की कोशिश करें। अगर आप ऐसा करने में सक्षम हैं तो यकीन मानिए आपको आंतरिक शांति मिलेगी। Meditation in hindi

  • अपनी क्रिया का अभ्यास करते रहें:-

जब आप ध्यान करते हैं या अपने ध्यान के लिए एक मंच चुनते हैं, तो शुरुआत में आपके साथ ऐसा नहीं हो सकता है, जब आप ध्यान करने की कोशिश करते हैं तो आपके विचार भटकने लगते हैं। लेकिन अगर ऐसा होता है तो चिंता न करें और फिर से ध्यान करने की कोशिश करें। जब आप इसे बार-बार करने की कोशिश करेंगे, तो आप आसानी से ध्यान केंद्रित कर पाएंगे।

ध्यान के लाभ – Benefits of Meditation – Meditation in hindi

ध्यान जो आपको कई रूपों में स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसके फायदे भी बहुत हैं। यह व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाता है। इसका रोजाना अभ्यास करने से आपको कई फायदे मिलते हैं। – Meditation in hindi

  • तनाव से राहत : stress relief

अगर आप तनाव मुक्त जीवन जीना चाहते हैं, तो आपको अपनी दिनचर्या में ध्यान को अवश्य शामिल करना चाहिए। क्योंकि यह आपके तनाव के स्तर को कम करता है और आपके दिमाग को आराम देता है।

  • डिप्रेशन से राहत : Meditation in hindi

मेडिटेशन चिंता, डिप्रेशन आदि समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। इसके साथ ही मेडिटेशन वह है जिसके नियमित अभ्यास से एंग्जायटी डिसऑर्डर कम हो जाएगा।

  • बुढ़ापा विरोधी :

मेडिटेशन उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को बहत धीमा कर देता है और आपको हमेशा जवां बनाए रखता है । आपका अगर उम्र हो गया है तो फिर भी आप को जुबा देखने मै मदत करता है ।

  • नींद के लिए फायदेमंद : Meditation in hindi

आप को अछि नींद आने मै ध्यान बहत मदत करता है , जिससे आप चैन की नींद सो सकें।

ध्यान के प्रभाव – Meditation in hindi
  • ध्यान के बारे में कम जानना:

अगर आपको ध्यान का सही ज्ञान नहीं है तो आपको इसका अभ्यास नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका गलत अभ्यास आपको परेशानी दे सकता है। क्योंकि अगर जानकारी सही नहीं है तो आप कुछ गलती कर सकते हैं।

  • ध्यान के लिए निश्चित समय का अभाव :-

ध्यान करने का एक सही समय होता है, लेकिन अगर आप इसे सही समय पर नहीं करेंगे तो इससे आपके शरीर को कोई फायदा नहीं होगा। क्योंकि केवल विधि और समय ही आपको ध्यान का लाभ दे सकता है।

  • गलत मुद्रा: Meditation in hindi

मेडिटेशन करने के लिए अलग-अलग आसन होते हैं, जिन्हें हम कई बार नहीं जानते और हमें भुगतना पड़ता है, इसलिए जितना हो सके इसके आसन को याद रखें और अगर नहीं है तो इसे करने की कोशिश न करें।

  • नियमित ध्यान न करना :

यदि आप सही समय पर ध्यान नहीं करते हैं और नियमित रूप से करते हैं, तो आप केवल पीड़ित होंगे, क्योंकि यदि आप इसे नियमित रूप से नहीं करते हैं, तो आपका शरीर फिर से वैसा ही हो जाएगा जैसा पहले था।

  • ध्यान गीत और संगीत :

ध्यान के लिए आप सुकून देने वाला और शांत करने वाला संगीत सुन सकते हैं, इससे आपका दिमाग शांत रहेगा और ध्यान करने में भी आसानी होगी। उदाहरण के लिए, सुबह कोयल की आवाज, झरने की आवाज आदि। इसे सुनकर आपका दिमाग पूरी तरह से शांत हो जाएगा।

यह भी पढे (गर्म पानी पीने के फाईदे – No 1 Best Benifits of hot water )

Leave a Comment