एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार – Home Remedies For Acidity in Hindi – No 1 Best इनफार्मेशन

Home Remedies For Acidity in Hindi :

पेट हमारे पूरे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। यदि यह सही नहीं है तो शरीर का संतुलन में रहना असंभव है। क्योंकि पेट की गतिविधियों से पूरे शरीर को ऊर्जा और अन्य पोषक तत्व मिलते हैं। लेकिन आज का माहौल ऐसा है कि हर दूसरा व्यक्ति किसी न किसी तरह की पेट की समस्या से जूझ रहा है और उनमें से ज्यादातर पेट से संबंधित समस्याओं, एसिडिटी के मरीजों में पाए जाते हैं।

पहले उम्र बीतने के बाद पेट के अन्य रोगों या एसिडिटी की शिकायत रहती थी, लेकिन अब समय ऐसा है कि बुजुर्ग, महिलाएं और पुरुष, कोई भी व्यक्ति एसिडिटी की समस्या से पीड़ित होने लगता है। इसलिए जरूरी है कि हम सभी एसिडिटी के कारणों, लक्षणों से अवगत हों ताकि हम इसका सही इलाज कर सकें।

दरअसल, हमारे पेट में बनने वाला एसिड या एसिड हमारे द्वारा खाए गए खाने को पचाने का काम करता है, लेकिन कई बार पेट में मौजूद खाना उसे पचा नहीं पाता या फिर एसिड खुद ही ज्यादा बन जाता है। ऐसे में एसिडिटी या एसिडिटी की समस्या हो जाती है। इसे आमतौर पर हार्ट प्रिक या हार्टबर्न भी कहा जाता है। वसायुक्त और मसालेदार भोजन का सेवन आमतौर पर एसिडिटी का मुख्य कारण होता है। इस प्रकार के भोजन को पचाना मुश्किल होता है और एसिड बनाने वाली कोशिकाओं को जरूरत से ज्यादा एसिड बनाने के लिए उत्तेजित करता है।

Also read (Pan d Tablet – No 1 Best Tips )

एसिडिटी के कारण – Causes of Acidity in Hindi – Home Remedies For Acidity in Hindi

  • नियमित रूप से बाहर खाना।
  • खाना मत खाओ
  • अनियमित भोजन
  • मसालेदार भोजन
  • बहुत अधिक तनाव लेना
  • लंबा काम का बोझ
  • आदि अम्लता के कारण हो सकता है।

एसिडिटी के लक्षण – symptoms of Acidity – Home Remedies For Acidity in Hindi

  • पेट में जलन
  • गला खराब होना
  • खट्टी डकारें
  • कब्ज़ होना
  • बेचैन महसूस करना
  • पेट में गैस
Home Remedies For Acidity in Hindi – एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार – Home Remedies For Acidity in Hindi

अगर ऐसी समस्या होने लगे तो समझ लें कि आप एसिडिटी के शिकार हो गए हैं। और जब एसिडिटी खत्म हो जाए तो बिना देर किए बताए गए आसान घरेलू उपायों को आजमाएं और एसिडिटी से राहत पाएं।

  • जीरा

एक गिलास पानी में जीरा उबाल लें और ठंडा होने के बाद इसे पी लें। जीरा पेट में एसिडिटी के इलाज के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है। जीरा एक प्रकार की लार का उत्पादन करता है, जो पाचन में सुधार करता है, जो पेट से गैस और एसिड को निकालने में मदद करता है।

  • इलायची

एक गिलास पानी में 2 इलायची पाउडर डालकर उबाल लें और ठंडा होने पर पिएं। इलायची में कई ऐसे गुण होते हैं जो अतिरिक्त एसिड को बनने से रोकते हैं और भोजन के पाचन की प्रक्रिया में सुधार करते हैं। यह पेट में ऐंठन से निपटने में भी सहायक है।

  • पानी

सुबह उठने के तुरंत बाद पानी पिएं। इस तरह रात भर पेट में बना अतिरिक्त एसिड और अन्य गैर-जरूरी और हानिकारक चीजें इस पानी के जरिए शरीर से बाहर निकल जाती हैं। इसलिए खाली पेट पानी पिएं, सुबह सबसे पहले चाय नहीं।

  • फल

फलों के फायदों से हम सभी वाकिफ हैं, इसलिए हम सभी को रोजाना फल खाने की आदत डालनी चाहिए। और अगर आप एसिडिटी से ग्रस्त हैं तो अपने दैनिक आहार में केला, तरबूज, पपीता और खीरा शामिल करें। तरबूज का रस एसिडिटी के इलाज में भी बहुत कारगर होता है।

  • नारियल पानी

अगर किसी को एसिडिटी की शिकायत है तो नारियल पानी पीने से काफी राहत मिलती है।

  • अदरक

अपने आहार में अदरक को शामिल करें। इससे पाचन में सुधार होगा और जलन से भी राहत मिलेगी।

  • ठंडा दूध

बिना चीनी वाला ठंडा दूध दिन में 2-3 बार पिएं। Durslak दूध कैल्शियम से भरपूर होता है जो एसिड बनने से रोकता है और दूध पहले से मौजूद एसिड को सोख लेता है। जिससे पेट के एसिड से छुटकारा मिलता है। और यह जलन से भी राहत देता है। बेहतर परिणाम के लिए दूध में एक चम्मच देसी घी मिलाएं।

  • सब्जियां

बीन्स, बीन्स, कद्दू, पत्ता गोभी और गाजर जैसी सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खाएं। इससे एसिडिटी से काफी देर तक राहत मिलेगी।

  • लौंग

एक लौंग को कुछ देर तक मुंह में रखने से एसिडिटी में आराम मिलता है। लौंग के रस को मुंह की लार में मिलाकर पेट में डालने से काफी आराम मिलता है।

  • तुलसी के पत्ते

जब भी आपको लगे कि एसिडिटी का प्रकोप बढ़ रहा है तो तुलसी के कुछ पत्ते चबा लें। कुछ देर बाद आप महसूस करेंगे कि पेट में जलन कम होने लगी है। Home Remedies For Acidity in Hindi

  • कार्बोहाइड्रेट

चावल जैसे कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन एसिडिटी को रोकने में सहायक होता है, क्योंकि ऐसा भोजन पेट में कम मात्रा में एसिड पैदा करता है। शेंग, सूखे मेवे, फल, फलों का सलाद जैसी चीजें खाएं।

  • व्यायाम

नियमित व्यायाम और ध्यान क्रियाएं पेट, पाचन तंत्र और तंत्रिका तंत्र के संतुलन को बनाए रखती हैं।

एसिडिटी से बचने के लिए कुछ विशेष परहेज : Home Remedies For Acidity in Hindi
  • तला हुआ, वसायुक्त भोजन, अत्यधिक चॉकलेट और जंक फूड का सेवन न करें।
  • शरीर का वजन न बढ़ने दें।
  • अत्यधिक धूम्रपान और किसी भी तरह की शराब के सेवन से एसिडिटी बढ़ जाती है, इसलिए इनसे बचें।
  • शीतल पेय और कैफीन आदि युक्त सोडा से बचें। इसके बजाय, हर्बल चाय का उपयोग करना बेहतर है।
  • घर का बना खाना ही खाएं।
  • जितना हो सके बाहर के खाने से परहेज करें।
  • दो भोजन के बीच लंबा अंतराल रखने से भी एसिडिटी हो सकती है।
  • थोड़े-थोड़े अंतराल पर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में भोजन करते रहें।
  • अचार, तीखी चटनी और सिरके का भी प्रयोग न करें।

2 thoughts on “एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार – Home Remedies For Acidity in Hindi – No 1 Best इनफार्मेशन”

  1. Hi, would you like more business leads at a lower cost? Currently http://GetMoreBusinessLeadsNow.com is offering our popular unlimited lead generation software package – at a reduced price for a limited time.

    Download and install now to be building databases of leads in minutes:

    http://GetMoreBusinessLeadsNow.com

    The Ultimate Lead Generation Pack works by automatically visting yellow page directories and building a database according to your search terms. Other software in the pack then finds emails, phone numbers, and other details for that database. The results can be used for email, cold-calling, direct mail, or to sell immediately – priced per lead. Runs on Windows, Mac, and Linux with multiple job and VPN/proxy support. Similar software retails for over $100 with less features.

    This pack is only available on sale as a short promotional offer, please download now if at all interested.

    Click Here: http://GetMoreBusinessLeadsNow.com

    Have a Great Day,
    The Ultimate Lead Generation Pack Team

    unsubscribe/remove Here: http://getmorebusinessleadsnow.com/r.php?url=arogyasharir.com&id=ulg35

    Reply

Leave a Comment